Embassy of Israel
New Delhi
इज़राइल के राजदूत, महामहिम श्री मार्क सोफर का सन्देश
भारत और इज़राइल दोनों में "लोकतंत्र के नृत्य" का अब समापन हो चुका है और हाल के महीनों में हमारे देशों में संपन्न हुए आम चुनावों ने ऐसी सरकारों को जन्म दिया है जो हमारे द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाने में सक्षम हैं, और बढ़ाएंगी। द्विपक्षीय असैनिक व्यापार के अब 4 अरब अमरीकी डॉलर तक पहुंचने के साथ और इस बात की मान्यता कि हम दोनों के बीच एक मुक्त व्यापार समझौता केवल चार वर्षों के भीतर इस आंकड़े को कई गुना बढ़ा देगा, स्पष्ट रूप से यह हमारे दोनों ही नये नेतृत्वों के लिए एक अनिवार्यता हो गयी है।  

आई टी और मोबाइल तकनीकों के क्षेत्र में सरकारी और निजी पहलुओं को परिपक्वता प्रदान करने की अनिवार्यता बनी हुई है।जल प्रबंधन के क्षेत्र में इज़राइल की प्रौद्योगिकियों को भारतीय किसानों और उपभोक्ताओं तक पहुँचाने हेतु गतिविधियों की महत्ता भी कुछ कम नहीं है, खासकर चिरकालिक आभाव के इन दिनों में।  इज़राइल दूतावास में नए कृषि विशेषज्ञ, श्री आवरी बार जुर, का पदार्पण इन परियोजनाओं को आवश्यक गति प्रदान करेगा। लोकतांत्रिक आदर्शों और सिद्धांतों को कभी कम कर के नहीं आंकना चाहिए, नयी सरकारों के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती होगी हमारे युद्ध-ग्रस्त क्षेत्रों में शांति, सुरक्षा और लोककल्याण में वृद्धि हमारे अपने समाजों और पड़ोसियों के भले के लिए।
और
इजराइली व्यंजन
भारत - इज़राइल संबंध
धार्मिक और त्योहारी चीजें
जायोनिसम
दूध् और शहद की ध्रती
तेल अवीव
कृषि
मृत सागर
नोबेल पुरस्कार विजेता
पानी प्रोफेसर एवनर एडिन
नाजरथ
किबुत्ज
सेनाएं
सम्पर्क करें
Useful Links
 
इज़राइल की 32 वीं सरकार की शपथ ग्रहण
इज़राइली कनेसेट(संसद) के लिए 2009 के चुनावों के उपरांत, नए प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतनयाहू के नेतृत्व में 31 मार्च, 2009 को नयी सरकार का गठन किया गया।  इस गठबंधन सरकार में कुछ प्रमुख राजनीतिक दल शामिल हैं जैसे की लिकुद, इज़राइल बेतिनु, शास, दी लेबर पार्टी, दी ज्यूइश होम और युनाइटेड तोरा जूडाईस्म।  मंत्रियों की संख्या के अनुसार, यह देश के इतिहास का सबसे बड़ा मंत्रिमंडल है जिसमें 30 मंत्री और 1 उप मंत्री शामिल हैं।  
इज़राइली दूतावास द्वारा इज़राइली स्वतंत्रता दिवस मनाया गया
नई दिल्ली स्थित इज़राइली दूतावास द्वारा दिल्ली के इम्पीरियल होटल में 28 अप्रैल 2009 को इज़राइली  राज्य की स्वतंत्रता की 69 वीं वर्षगांठ मनायी गयी।  इस समारोह में भारतीय समाज के सभी क्षेत्रों के 500 से अधिक मेहमानों नें हिस्सा लिया - सरकार, शिक्षा, राजनयिक समुदाय, मीडिया, व्यापार समुदाय आदि।   इस शाम का मुख्य आकर्षण था "जेरूसलम में स्वर्ग का खोना और पाना" शीर्षक वाला एक अद्वितीय संगीत प्रपठन, जो इज़राइल के चार बहुप्रशंसित संगीतकारों को साथ लेकर आया- प्रोफेसर माइकल मेल्ज़र (इज़राइल में कलात्मक रिकॉर्डर-प्लेय...
एक इज़राइली शास्त्रीय संगीत उस्ताद के साथ इन्द्रियों का उत्सव
इज़राइली दूतावास ने नीमराना संगीत फाउंडेशन के सहयोग से गिल शौखात के-इज़राइली पियानोवादक, संगीतकार और कंडक्टर- एक शास्त्रीय संगीत कॉन्सर्ट का मंचन 10 मार्च को नई दिल्ली में अशोक होटल के खुले मैदान में और 12 मार्च को कोलकाता में टैगोर केंद्र में किया।  दिल्ली के अपने कार्यक्रम के दौरान गिल शोहत ने भारतीय तबला उस्ताद अकरम खान के साथ फ्यूज़न तथा बॉलीवुड का गाना "दिल तो पागल है" पेश किया।   "इज़राइली शास्त्रीय संगीत के सबसे महत्त्वपूर्ण और प्रभावशाली व्यक्तित्व" के रूप में इज़राइल के तीन प्रमुख अख़बारों द्वारा मान्यता प्राप्त गिल शोखात का भारतीय संगीत प्रेमियों द्वारा गर्मजोशी से स्वागत किया गया और मीडिया द्वारा बड़े पैमाने पर कवर किया गया।
इज़राइली दूतावास, नई दिल्ली द्वारा वीज़ा आवेदन केन्द्र का शुभारंभ
इज़राइली दूतावास ने वीज़ा की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए नई दिल्ली में एक नई सुविधा की शुरुआत की।  वीज़ा आवेदकों को बेहतर सेवा और सहायता प्रदान करने हेतु अपने निरंतर प्रयास के अंतर्गत, इज़राइल  के राजदूत, महामहिम श्री मार्क सोफर द्वारा 23 अप्रैल 2009 को वी.ऍफ़.एस इज़राइल, वीज़ा आवेदन केन्द्र, इंटरनेशनल ट्रेड टावर, एस-2 स्तर, नेहरू प्लेस, नई दिल्ली- 110019, पर एक नए वीज़ा केंद्र का  उद॒घाटन किया गया।  इस अवसर पर इज़राइली दूतावास की कौंसल श्रीमती इरित शेनोर ने टिप्पणी की, "यह नयी सुविधा वीज़ा प्रदान करने की प्रक्रिया में महत्त्वपूर्ण सुधार करने के साथ साथ पंजीकरण प्रक्रिया के दौरान वीज़ा आवेदकों को एक सुविधाजनक और आरामदायक माहौल भी प्रदान करेगी।








 
परिचय | संस्कृति | आर्थिक व्यवस्था | इजराइल | राजनीतिक ढांचा | यहूदी त्यौहार | अल्पसंख्यक समुदाय | नाजरथ | यरुशलम | होलोकॉस्ट
इस्राइली व्यंजन | भारत-इज़राइल संबंध | धार्मिक और त्योहारी चीजें | जियॉनिज्म | दूध् और शहद की ध्रती | सेनाएं
तेल अवीव | कृषि | मृत सागर | नोबेल पुरस्कार विजेता | पानी प्रोफेसर एवनर एडिन
| किबुत्ज